कांग्रेस नेता राहुल गांधी ट्विटर समाचार हमलों के केंद्र से पूछें कि चीनी ने हमारी जमीन को वापस ले लिया है, जब सरकार ने इसे वापस लेने की योजना बनाई है – चीन के साथ पहले जैसी स्थिति पर विचार कर रहे हैं, बाकी सभी वार्ताकार बेकार हैं: राहुल


कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार केंद्र सरकार पर निशाना साधते रहते हैं। भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद को लेकर वे ज्यादा प्रमुख हैं। शुक्रवार को एक बार फिर उन्होंने सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने चीन के साथ स्थिति बदलने के अलावा सभी वार्ताओं को बेकार करार दिया है।

राहुल गांधी ने ट्टीट ने कहा, 'चीन के साथ केवल मार्च 2020 में जैसी स्थिति थी वैसी स्थिति की प्रदर्शनी को लेकर बात होनी चाहिए।' प्रधानमंत्री और भारत सरकार चीन को बाहर खदेड़ने की जिम्मेदारी लेने से इनकार कर रहे हैं। बाकी सभी अंतःक्रियाएं बेकार हैं। '

इससे पहले एक और ट्वीट में उन्होंने सवाल किया था कि आखिर कब सरकार चीन से अपनी जमीन वापस लेने की योजना बना रही है। राहुल ने कहा, 'चीनियों ने हमारी जमीन ले ली है। आखिर कब भारत सरकार इसे वापस पाने की योजना बना रही है? या ये भी एक 'भगवान का अधिनियम' (एक्ट ऑफ गॉड) बन रहा है? '

इससे पहले कांग्रेस सांसद ने कहा था कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को छोड़कर, देश के हर नागरिक को भारतीय सेना की क्षमता पर भरोसा है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा था, 'हर कोई भारतीय सेना की क्षमता और वीरता पर विश्वास करता है, पीएम को छोड़कर, जिनकी कायरता ने चीन को हमारी जमीन लेने की अनुमति दी। जिनके झूठ से यह सुनिश्चित होगा कि वे इसे बनाए रखेंगे। '

यह भी पढ़ें- एलएएसी पर तनाव कम करने के लिए भारत-चीन के बीच पांच बिंदुओं पर सहमति बनी

इसी सीमा विवाद के बीच भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर और चीन के विदेश मंत्री कलावे के बीच तनाव को कम करने के लिए गुरुवार शाम को मॉस्को में बैठक हुई। दोनों देशों में तनाव कम करने के लिए पांच बिंदुओं पर सहमति बनी हुई है। इसकी जानकारी शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने दी।

चीन ने दो बार की कोशिश की है
भारत और चीन के बीच सीमा पर मई की शुरुआत से गतिरोध जारी है। हाल ही में 29-30 अगस्त की रात चीन ने टाइपिंग की कोशिश की। इसके कारण दोनों देशों के रिश्तों में तनाव और बहुत बढ़ गया। चीन की सेना ने पेंगोंग झील के दक्षिणी छोर की पहाड़ी पर कब्जा करने की कोशिश की थी, जिसे भारतीय जवानों ने नाकाम कर दिया था। चार दिन बाद चीन के दोबारा टाइपिंग की कोशिश की और इस बार भी भारतीय जवानों ने उसके मंसूबों पर पानी फेर दिया।

। सरकार (t) भारत चीन गतिरोध (t) rahul gandhi twitter



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here