रविश कुमार के वह १० खास बातें जो आप को जानना चाहिए |Ravish Kumar

Ravish ndtv

1, कौन हैं रविश कुमार ??

Ravish ndtv

रविश कुमार एनडीटीवी इंडिया के संपादक हैं .वह देश के एक ऐसे पत्रकार हैं जो सिर्फ लोगों के जुड़े हुए मुद्दा उठाते हैं .वो अपने चैनल पैर कभी हिन्दू मुस्लिम के मुद्दे नहीं उठाते हैं .वो अपने बेबाक पत्रकारिता के लिए पुरे भारत मैं प्रसिद्ध हैं . द इंडियन एक्सप्रेस ने उन्हें देश के १०० प्रभावशाली लोगों मैं शामिल किया हे .उनका प्राइम टाइम बहुत ज्यादा लोकप्रिय हे . वो अपने कड़वे सवाल के लिए जाने जाते है। आप उनका पुराना वीडियो देख सकते हैं जिसमे वह मनमोहन सिंह के GOVT को तीखा सवाल पूछते नजर आएंगे। मगर आज के दौर मैं सवाल पूछने वाले को देशद्रोही कहा जा रहा हे। सोचिये हमलोग किसतरह का समझ बना रहे हैं।

2. बचपन और शिक्षा?

रविश कुमार का घर बिहार के मोतिहारी मैं हे .वो अपना प्रारंभिक शिक्षा लोयोला स्कूल से प्राप्त किए हैं और उच्च शिक्षा दिल्ली विश्वविद्यालय हैं प्राप्त किए हैं .

3. रविश कुमार vs संबित पात्रा

Ravish Kumar Vs Sambit Patra

संबित पात्रा जो की बीजेपी के राष्ट्रीय प्रबक्ता हैं ,आप उन्हें सभी न्यूज़ चैनल के डिबेट मैं देखे होंगे .और वह ज्यादा तर डिबेट मैं हिन्दू – मुस्लिम और पाकिस्तान जैसे सब्द उपयोग करते हैं . और वो मुद्दे परिवर्तन करने मैं माहिर हैं . रविश के प्राइम टाइम मैं संबित पात्रा जबाब देते वक़्त फ़ोन लाइन कट जाता हे तो संबित एनडीटीवी पर आरोप लगाते हैं की उनका फ़ोन जान बुज कर काटा गया हे इस पर रविश कुमार नाराज हो जाते हैं और कहते हैं की संबित ड्रामा बंद करो आप को पता हे डिबेट मैं कई बार सिगनल कट जाता हे .और मेरे पाश और कोई काम नहीं हे क्या मैं बेठ कर तुम्हारा सिग्नल काटूं तब से ले कर अभीतक संबित पात्र ने कभी भी रविश के प्राइम टाइम मैं नहीं आए हैं .

4. रविश कुमार vs नरेंद्र मोदी

Ravish-Modi

हमारे प्रधानमंत्री हर न्यूज़ चैनल को इंटरव्यू दे चुके हैं सिवाए एनडीटीवी इंडिया को .ज़ी न्यूज़ के इंटरव्यू मैं जबाब देते हुए मोदी जी ने पकोड़ा बेच ने को रोजगार कहा था .उस इंटरव्यू का कुछ सबाल बहुत ही आसान था तो कुछ लोगों ने यह कहा की यह इंटरव्यू फिक्स था .रविश कुमार ने इस मुद्दे मैं एक पोस्ट किआ उसमे उन्होंने ने मोदी जी को आमंत्रित करते हुए लिखा की ” कैमरा भी माइक भी और पकड़ा भी हे मैं आप का इंतज़ार कर रहा हूं” . 2014-2020 के दर्मियान मोदी जी ने एक बार भी रविश को इंटरव्यू नहीं दिए हैं .

5.हम सवाल नहीं पूछेंगे तो क्या करेंगे

Ravish-Kumar-artist
source :NDTV

जब एनडीटीवी इंडिया पर एक दिन का पाबन्दी लगाने का GOVT ने नोटिस जारी की उसको लेकर रविश कुमार ने एक एपिसोड किआ था जो बहुति अनोखा था .इसमें वो दो माइम कलाकारों के इस्तेमाल से हम लोगों को ये समझने में मदद की कि GOVT को किस तराह का सवाल पसंद हे और किस तराह का सवाल पसंद नहीं .यह एपिसोड यूट्यूब मैं १ नंबर मैं ट्रेंडिंग किया था .इसके बात एनडीटीवी इंडिया से
पाबन्दी हटा दिआ गया था .

6. क्या हे गोदी मीडिया

godi-media

आज के दौर मैं बहुत कम ऐसे पत्रकार हैं जो सरक़ार को बेर्रोजगारी इकॉनमी पर सबाल पूछ रहे हैं और ज्यादातर प्रिंट मीडिया दिन रात हिन्दू -मुस्लिम टॉपिक मैं व्यस्त हे .ये लोग कभी असली मुद्दों मैं बात नहीं करते हैं ये सिर्फ समाज मैं जेहेर फेलाते हैं .ये लोग सिर्फ एक पार्टी
का सपोर्ट करते हैं इन सब लोगों को रविश ने गोदी मीडिया काहा हे .

7. रविश की फॅमिली

Ravish Kumar

रविश कुमार ने नयना दासगुप्ता से साधी की हैं जोकि लेडी श्री राम कॉलेज की प्रोफेसर हैं । नयना जो की एक बेंगोली परिवार से हैं। रविश की दो बेटी हैं। और आये दिन रविश और उनके परिवार को जान से मारनेका धमकी आता रेहता हे जो के बहुत दुर्भाग्य जनक चीज़ हे। रविश ने अपना ट्विटर हैंडल बंध कर दिया हैं। आज कल व्हाट्सप्प पैर उन्हें धमकिया आ रहा हे।

8.रविश की फेमस पंक्तियाँ

1. हम फ़क़ीर नहीं की झोला लेके चल पड़ेंगे , हम लकीर हैं जहां जाते हैं वहीं गेहरी निशान छोड़ जाते है।
2. हर यूद्ध जीतने के लिए नहीं लढा जाता हे। कुछ दुनिया को यह बताने के लिए लड़ी जाती हे कि कोई युद्ध के मैदान में थ।

9.अवार्ड


१ गणेश संखेर विद्यार्थी अवार्ड 2010
२ रामनाथ गोनेका अवार्ड 2013
३ भारतीय समाचार अवार्ड 2014
४ इंडियन एक्सप्रेसस अवार्ड 2016
५ कुलदीप नायर अवार्ड 2017
६ रेमन मैगसेसे पुरस्कार 2019
रेमन मैगसेसे पुरस्कार को एशिया का नोबेल पुरस्कार कहा जाता हे। रविश कुमार भारतीय मीडिया के पेहेले शख्स हैं जिन्हे यह अवार्ड मिला हे।

10.किताबें


१ इश्क़ में शहर होना
२ देखते रहिए
३ रविशपंती
४ The Free Voice

क्लिक करैं और आगे पढ़ें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here