कौन हे प्रशांत किशोर क्यों उन्हें राजनीती का चाणक्य कहा जाता हे |Prashant Kishor

Prashant Kishore-Kejriwal

Prashant Kishor का जन्म बिहार मैं हुआ हे वह एक भारतीय राजनीतिक रणनीतिकार हैं। भारतीय राजनीती मैं प्रबेश करने से पहले 8 साल वह संयुक्त राष्ट्र के लिए काम कर चुके हैं । भारत के दो सबसे बड़ी पार्टी भाजपा और कांग्रेस के लिए चुनावी रणनीतिकार के रूप में काम कर चुके हैं । फोर्ब्स ने उन्हें भारत के २० प्रतिष्ठित लोगों की सूचि मैं स्थान दिया हे। वो अभी ममता बनर्जी की पार्टी TMC और Mk Stalin की पार्टी DMK के लिए काम कर रहे हैं। वह जनता दल (U ) के उपाध्यक्ष रहे चुके हैं। NRC और CAA के मुद्दे पर वह नितेश से अलग राये रखते हैं ।

क्या हे I-PAC ??

Ipac


2015 मैं CAG सदस्य ने मिल कर इंडियन पोलिटिकल एक्शन कमिटी बनायी थी और Prashant Kishor इसके मुख्य थे । 2015 मैं नितीश कुमार के जीत के पीछे IPAC का बहुत अहम भूमिका था। उसके बाद IPAC ने कांग्रेस ,बीजेपी ,YSR कांग्रेस ,शिव सेना ,आप जैसे पोलिटिकल पार्टी के लिए इलेक्शन संचालन किया हुआ हे। I-PAC मैं काम करने वाले लोगों का औसतन उम्र 26 -30 साल हे। विभिन्न कॉलेज और व्यावसायिक पृष्ठभूमि से कुछ बेहतरीन दिमागों को एक साथ ला कर चुनाव प्रक्रिया का हिस्सा बनान और भारत में नीति निर्धारण को प्रभावित करने I-PAC का एक अनूठा प्रयास हे।

भारतीय आम चुनाव, 2014

लोकसभा इलेक्शन मैं प्रशांत किशोर ने नरेंद्र मोदी के लिए काम किया था। चाई पे चर्चा,3D रैलियां, रन फॉर यूनिटी जैसे कैंपेन प्रशांत किसोरे ने चलिए जिसका फायदा नरेंद्र मोदी और बीजेपी को मिला। मोदीजी के जीत मैं प्रशांत का अहम भूमिका थ।

पंजाब विधानसभा चुनाव 2017

Prashant with amerender singh


2017 मैं Prashant Kishor ने कैप्टेन अमरिन्दर सिंह के लिए इलेक्शन संचालन किया था। 117 सीट वाला पंजाब विधान सभा मैं कांग्रेस को 77 सीट मिला था और कैप्टेन जी की सरकार बनी थी। उसके पहले कांग्रेस वहीं दो बार इलेक्शन हार चुकी थी।

2017 यूपी चुनाव अभियान

प्रशांत ने 2017 मैं कांग्रेस के लिए इलेक्शन संचालन किआ था। उत्तर प्रदेश मैं समाजवादी पार्टी और कांग्रेस दोनों मिलकर इलेक्शन लड़े थे मगर यहां कांग्रेस को 7 सीट मिला था और समजवादी पार्टी को 47 सीट मिली थी।

2019 आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव

Prashant-Kishor-and-YS-Jagan

2017 मैं जगन मोहन रेडी ने Prashant Kishor को अपनी राजनीतिक सलाहकार के रूप में नियुक्त किया थ। I_PAC ने “समराला संक्रमम”, “अन्ना पिलुपु” और “प्रजा संकल्प यात्रा” जैसे कई चुनावी अभियान तैयार किआ जिसका फायदा जगन के पार्टी को मिला, 175 सीट वाली आंध्र प्रदेश विधानसभा मैं YSR कांग्रेस को 151 सीट मिली और TDP को 23 सीट मिली हे ।

दिल्ली विधानसभा चुनाव

Prashant Kishore-Kejriwal


प्रशांत ने 2020 मैं आप के लिए काम किया और इसका फायदा आम आदमी पार्टी को मिला। 70 सीट वाली दिल्ली विधानसभा मैं आम आदमी पार्टी को 62 सीट मैं जीत मिली और केजरीवाल दूसरे बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बने।

2020 बिहार विधानसभा चुनाव

इस बार की बिहार इलेक्शन मैं Prashant Kishorकिसीभी पार्टी के लिए एलक्शन अभियान नहीं कर रहे हैं। वह बात बिहार की अभियान चला रहे हैं जिसमे बिहार को देश का पहले १० बिकसित राज्यों मैं लाना और युवाओं को राजनीती मैं लाना उनका उद्देश्य हे।

और मोटिवेशनल कहानी के लिए क्लिक करैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here